Connect with us

Hope

सुर्खियां कहती ज़िन्दगी

Published

on

अरे रुको,

कहाँ चली,

मैंने पूछा तो उसने कहा,

कि मैं हूँ ज़िंदगी

चलना ही मेरी कहानी,

थोड़ी देर भी ना रुक सकूँ,

चाहे मैं रहूँ या नहीं।।

 

 

सफ़र थकते नहीं,

राहें कितनी लम्बी हो,

कभी ये मुड़ती,

कभी परखती,

मतलब ये हमें ज़िंदगी का समझाती,

फिर भी दिशाहीन चलती,

अरे रुको,

कहाँ चली,

मैंने पूछा तो उसने कहा,

कि मैं हूँ ज़िंदगी।।

 

 

हर्ष भी है मेरे पास,

पास है मेरे अश्रु भी,

चलते रफ्तार में राही इसका कोई नहीं,

गलत सही कभी मुश्किल लगते,

वही तुम्हें परिणाम देती,

अरे रुको,

कहाँ चली,

मैंने पूछा तो उसने कहा,

कि मैं हूँ ज़िंदगी।।

 

 

नया कभी ये दोस्त ढूढँती,

और कभी हमराही जीवन का,

इस सफ़र को खूब सजाती,

नीरस कभी ये फिर हो जाती,

पर कदम ना डगमगाते इसके,

जब तक मंज़िल तक नहीं पहुँचती,

अरे रुको,

कहाँ चली,

मैंने पूछा तो उसने कहा,

कि मैं हूँ ज़िंदगी।।

 

 

अटपटे इसके सवाल,

जवाब भी अतरंगी,

चमक है इसकी देखो,

इक झूठ की माटी,

गिरके जो टूटता है,

फिर भी मिट्टटी में समाहित होती,

अरे रुको,

कहाँ चली,

मैंने पूछा तो उसने कहा,

कि मैं हूँ ज़िंदगी।।

 

 

साथ है तेरे और भी,

जो खूबसूरती तुझे दिखाती,

अँधेरा भी रहेगा इसमें,

ये भी तुझे सिखलाती,

सब एक नहीं,

पर हम सबमें जो एक है,

वो है हमारी ज़िंदगी,

अरे रुको,

कहाँ चली,

मैंने पूछा तो उसने कहा,

कि मैं हूँ ज़िंदगी।।

 

 

महफ़िल में इसके गज़ल भाँती है,

कुछ अजीज़ तो कुछ दर्द के साथी है,

जितनी भी हसीन हो शाम,

लेकिन रात को फिर भी ढँलना ही है,

क्रम इसका कभी ना आदी,

अरे रुको,

कहाँ चली,

मैंने पूछा तो उसने कहा,

कि मैं हूँ ज़िंदगी।।

Jahnabee is an Independent working lady, Pet lovers, travel freak, music mind, culinary explorer, an extrovert and at the very core…a poet.

Continue Reading
17 Comments

17 Comments

  1. Sanghamitra

    January 2, 2020 at 6:19 PM

    Beautifully written …

    • Jahnabee

      January 2, 2020 at 6:41 PM

      Thank you so much sanghu☺️

  2. Anonymous

    January 2, 2020 at 7:12 PM

    So sweet

  3. Tarun kumar Nath

    January 2, 2020 at 7:13 PM

    So sweet

  4. Charu

    January 2, 2020 at 7:20 PM

    Wow mam just wow. U gave words to zindagi. Agar zindagi bol skti to shayad yahi kehti

  5. Rajadhiraj nath

    January 2, 2020 at 10:16 PM

    AGAIN TOOOOOO GOOD DEAR SIS. # LOVE FROM ASSAM.

  6. Jatinder kumar

    January 3, 2020 at 1:02 PM

    Welldone Jahnabee

    • Jahnabee

      January 3, 2020 at 9:54 PM

      Thanxx Jatinder☺️

  7. Sudeep Kochar

    January 6, 2020 at 11:00 PM

    Simply awesome. Well done.

    • Jahnabee

      January 9, 2020 at 10:55 AM

      Thank you, Bhabhi Ji 🙂

  8. MANPREET KAUR

    January 9, 2020 at 11:46 AM

    Gud one jaanu

  9. Nikhil

    February 6, 2020 at 6:06 PM

    You are marvelous bro

    • Jahnabee

      February 6, 2020 at 6:25 PM

      Thankew so much Nikhil☺️☺️

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Like Us!